आज फरीदाबाद के लाल और भारत के सच्चे सपूत अमर बलिदानी संदीप सिंह जी की अंतिम यात्रा जहां से भी निकली, लोगों का एक हुजूम उमड़ पड़ा। बच्चे हो या बुजुर्ग, सभी के रक्त में राष्ट्रप्रेम की धारा प्रवाहित हो रही थी। एक वीर बलिदानी के पैरों की धूल भी चंदन समान होती है, आपको शत शत नमन।

आज फरीदाबाद के लाल और भारत के सच्चे सपूत अमर बलिदानी संदीप सिंह जी की अंतिम यात्रा जहां से भी निकली, लोगों का एक हुजूम उमड़ पड़ा। बच्चे हो या बुजुर्ग, सभी के रक्त में राष्ट्रप्रेम की धारा प्रवाहित हो रही थी। एक वीर बलिदानी के पैरों की धूल भी चंदन समान होती है, आपको शत शत नमन।

11
52
222

Replies